User Rating: 5 / 5

Star ActiveStar ActiveStar ActiveStar ActiveStar Active
 

आवला के गुण फायदे नुकसान व् उपयोग जानिए  हिंदी में - benefits of amla

ईश्वर ने एक बहुत ही संतुलित विश्व का निर्माण किया है। फिर भी जीवन की कोई राह जहां काँटों से परिपूर्ण है वहीँ ना जाने कितनी ही राहें वृक्ष की शीतल छांव तले पनप रही हैं। यदि कहीं पर काला नाग अपना फन फलाए बैठा है तो कहीं चहकती हुई चिड़िया खुशियों का स्वागत करती है। इसी प्रकार यदि ईश्वर ने रोगों को अस्तित्व प्रदान किया है तो जीवन को सुखमय ओर दुखरहित बनाने के लिए रोगोपचार के साधनों का भी निर्माण किया है। "एक अनार सौ बीमार" यह कहावत तो आप सबने सुनी होगी, परंतु क्या कोई जानता है ऐसा कौन-सा फल है जो 100 मर्जों की एक दवा है - वह है आंवला। आंवला कोई आम फल नहीं है, यह एक औषधीय फल है। यह अनगणित अरोग्य लाभों से परिपूर्ण है।

आंवला प्रकृति की ओर से हमें दिया गया एक तोहफा है जो बहुत गुणकारी है| आंवला में सबसे अधिक मात्रा में विटामिन सी होता है, इसे खाने से आँखों की रोशनी बढती है, बालों का झाड़ना बंद होता है| आयुर्वेद की दुनिया में आंवला का एक महत्वपूर्ण स्थान है, जिसे बहुत सी बीमारी को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है| आमला में मौजूद तत्व पेट में होने वाली गैस, एसिड की परेशानी दूर करते है, इसके खाने से दिमाग तेज होता है, दिल व फेफड़े मजबूत होते है, स्किन की परेशानी दूर होती है, शरीर से विषेले पदार्थ निकल जाते है, बालों को बढ़ाने अदि मे यह बहुत लाभकारी है| इसके अलावा भी आवला के बहुत से फायदे होते है|

बहुत सी बीमारी के लिए आय्रुर्वेद इसे उपयोग करता है, आंवला में विटामिन सी, कैल्शियम फोस्फोरस, आयरन व विटामिन बी काम्प्लेक्स होता है|

 

आंवला के फायदे, औषधीय गुण, लाभ - Amla Uses and Benefits in Hindi

  • बालों के लिए 
    आंवला बालों के लिए बहुत अच्छा होता है यह उन्हें मजबूत, घना, काला व चमकदार बनाता है| यही वजह है कि आमला बहुत से शैम्पू और हेयर प्रोडक्ट में उपयोग होता है| आमला खाने से या इसे पीस कर बालों में लगाने से बालों को फायदा मिलता है| आंवला का बालों के लिए उपयोग सदियों से होता आ रहा है, भारत में पहले बाल आमला शिकाकाई से ही धोये जाते थे, बाद में इससे शैम्पू बनने लगे| बालों का गिरना ये 90% तक कम करता है|

बालों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आमला बहुत फायदेमंद है।

  1. बालों का झड़ना कम करता है
    विटामिन सी की कमी बालों के झड़ने का एक मुख्य कारण है और आमला में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जिसकी वजह से यह बालों का झड़ना कम करता है। 
  2. समय से पहले बालों का सफेद होना रोकता है
    अमला में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट बालों के पिग्मेंटेशन को समृद्ध करते हैं। पाउडर या पेस्ट के रूप में अमला को सिर पर लगाने से सिर की त्वचा को पोषण मिलता है और यह समय से पहले बालो को सफ़ेद होने से बचाता है। 
  3. बालों की वृद्धि में सहायक होता है
    आमला में आवश्यक फैटी एसिड होते हैं जो बालों का विकास तेजी से करने में मदद करते हैं। अमला बालों की जड़ो को मजबूत कर उनकी वृद्धि में मदद करता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व बालों के रोम तक पहुंच कर उन्हें लम्बा, कोमल और घना बनाते है साथ ही उनकी चमक को भी बरक़रार रखते हैं। स्वस्थ और लम्बे बाल पाने के लिए आमला तेल से अपने सिर की मालिश करें।
  4. रूसी को कम करता है
    अमला के एंटीबैक्टीरियल गुण एक्जिमा (eczema) और डैंड्रफ़ जैसी परेशानियों को कम करता है। 
  • आँख की रोशनी बढ़ाये
    आंवला आँख की रोशनी बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है| एक शोध के अनुसार पाया गया है कि जो लोग रोज आमला खाते है उनकी आँख की रोशनी बढ़ जाती है| रात का अंधापन, धुंधला दिखना, ये सब परेशानी आमला खाने से दूर हो जाती है| इसके लिए आपको आंवला के जूस में थोड़ी सी शहद मिलाकर रोज पीना होगा|
  • आंवला दिमाग़ को तेज़ बनाने के लिए
    अमला विटामिन और खनिजों का समृद्ध स्रोत है जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं। रक्त में लौह की उच्च मात्रा मस्तिष्क को ऑक्सीजन प्रदान करती है और साथ ही स्मृति में सुधार करती है। अमला में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट मस्तिष्क को स्वस्थ बनाये रखने के लिए लाभकारी होते हैं। आंवला एक प्रभावी मस्तिष्क टॉनिक है और स्मरण शक्ति बढ़ाने  और एकाग्रता को सुधारने में मदद करता है। अपने दिमाग को पोषण देने के लिए इसका कच्चा फल खायें। 
  • शरीर में कैल्शियम की पूर्ती के लिए
    आंवला के इस फायदे के बारे में बहुत कम लोग जानते होंगे| आंवला हमारे शरीर में अच्छी मात्रा में कैल्शियम देता है| कैल्शियम की जरुरत हमारे शरीर में हड्डियों, दाँतों, बालों व नाख़ून को होती है| इसके लिए विटामिन सी से भरपूर चीजें खाना चाइये और आमला तो इसका बहुत बड़ा स्त्रोत है| आमला खाने से आपके शरीर की सुन्दरता में चार चाँद लगेंगे|
  • आमला के उपयोग मज़बूत दाँतों के लिए
    भोजन को शरीर का ईंधन कहा जाता है परंतु स्वस्थ एवं मज़बूत दाँतों के बिना हम अन्न ग्रहण करने में असमर्थ होते हैं। तो यदि आप दाँतों को स्वस्थ और मज़बूत बनाना चाहते हैं तो रोज़ आँवला का सेवन करें। 
    आवँला एक शक्तिशाली एंटीमाइक्रोबायल एजेंट है। इसलिए यह विभिन्न प्रकार के रोगजनकों और बैक्टीरिया से होने वाली परेशानी को कम कर सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि आँवला स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन नामक बैक्टीरिया के विकास को रोकने में सक्षम है। स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटन दांतो में कीड़ा लगने का मुख्य कारण होता है। अतः इसके विकास को रोक कर आँवला दन्त क्षय (दांतो में कीड़ा लगना) जैसी दातों की समस्याओं के इलाज में फायदेमंद है। 
  • मेटाबोलीक एक्टिविटी
    प्रोटीन युक्त खाना लेने से हमारा शरीर हमेशा फिट healthy रहता है| शरीर में मसल को, सेल को बढ़ने के लिए बहुत अधिक प्रोटीन चाहिए होता है|आंवला में अत्यधिक प्रोटीन होता है, जिससे लेकर हम हमेशा फिर रह सकते है|
  • आंवला स्वच्छ श्वसन प्रणाली के लिए 
    श्वसन प्रणाली साँस लेने एवं छोड़ने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाती है। लेकिन सर्दी, खांसी, दमा, ब्रांकाइटिस एवं यक्ष्मा जैसे श्वसन संबंधी रोग सांस लेने में गंभीर कठिनाई पैदा कर देते हैं। आँवला इन कठिनाइयों को दूर करने मे निपुण है। परंतु आँवला शीतल स्वाभाव का होता है, इसलिए इसका सेवन शहद या फिर काली मिर्च के साथ ही करना चाहिए। 
    आँवले में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है और इसको श्वसन संबंधी परेशानियों को कम करने के लिए लाभकारी माना जाता है। इस को सर्दी और खांसी में इलाज के लिए एक हर्बल दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। आँवले का सेवन करने से रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिस से फ़्लु और गले के संक्रमण को कम करने में मदद मिलती है । यह पुरानी खांसी, टीबी और छाती की समस्याओं से निपटने में मदद करता है। यह अस्थमा के लक्षणों को कम करने के लिए भी लाभदायक माना जाता है। 
  • महिलाओं के लिए अच्छा 
    हर महीने महिलाओं को होने वाली परेशानी में होने वाले दर्द से आमला आराम दे सकता है| आमला में मौजूद मिनिरल्स व विटामिन दोनों मिल कर इस परेशानी को दूर करते है और महिलाओ को होने वाली बैचैनी से आराम देते है| कहा जाये तो यह बहुत जरुरी तत्व है महिलाओं के लिए जिसे जिसे रोज लेना चाहिए|
  • बुढ़ापा दूर रखे
    सूखे आंवले का चूर्ण 2 चम्मच रोज रोटी में रखकर खायें।
    आंवला , गिलोय व् गोखरू के संमभाग संयोजन से एक चूर्ण तयार होता है जिसे रसायन चूर्ण कहते है | इसके सेवन से बेहद फायदा होता है|
  • मधुमेह
    डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है। यह इंसुलिन बनाने वाले सेल्स को ऐक्टिवेट करता है और इस हॉर्मोन का काम शरीर में ब्लड शुगर को कंट्रोल करना होता है।
    मधुमेह के मरीज हल्दी के चूर्ण के साथ आंवले का सेवन करना चाहिये इससे बेहद फायदा होता है।
  • बवासीर
    बवासीर के मरीज सूखे आंवले को महीन या बारीक करके सुबह-शाम गाय के दूध के साथ हर रोज सेवन करना चाहिये।
  • नकसीर के लिए
    यदि नाक से खून निकल रहा है तो आंवले को बारीक पीसकर बकरी के दूध में मिलाकर सिर और मस्तिक पर लेप लगाइए। इससे नाक से खून निकलना बंद हो जाएगा।
    सूखा आंवला रात में भिगाकर उस पानी से सर धोयें। आंवले का मुरब्बा खायें। आंवले का रस नाक में टपकायें।
  • पेशाब में जलन
    पेशाब करने में जलन हो तो हरे आंवले का रस शहद में मिलाकर सेवन कीजिए। इससे जलन समाप्त होगी ओर पेशाब साफ आएगा।
  • पथरी के लिए
    पथरी की शिकायत होने पर सूखे आंवले के चूर्ण को मूली के रस में मिलाकर 40 दिन तक सेवन कीजिए। इससे पथरी समाप्त हो जाएगी।
  • गर्भवती स्त्रियों के लिए फायदेमंद
    गर्भवती स्त्रियों को आंवला अवश्य लेना चाहिये। किसी भी रूप में लें। आंवला एक अंण्डे से अधिक बल देता है।
    गर्भावस्था में उल्टी हो रही हो, तो आंवले का मुरब्बा खायें |
  • आंवला खाने के फायदे गले के लिए
    आँवला गले को भी स्वस्थ रखने में सहायता करता है। अदरक के जूस के साथ इसका सेवन करने से गल-शोथ (sore throat) एवं थाइरोइड (thyroid) जैसे विकारो से मुक्ति मिलती है। 
    आँवले के रस को कटे हुए अदरक के कुछ टुकड़ों और एक चमच्च शहद के साथ मिला कर पीने से भी खांसी और गले के समस्या से राहत मिलती है। 
  • आंवला के फायदे गुर्दे के लिए
    आंवला थोड़ा मूत्रवर्धक भी है, जो आवृत्ति और पेशाब की मात्रा बढ़ाता है। मूत्रवर्धक पदार्थ हमारे गुर्दे को स्वस्थ रखने, मूत्र संक्रमण और गर्भाशय में संक्रमण को रोकने के लिए आवश्यक होता है।
  • संक्रमण से बचने के लिए
    इसके जीवाणुरोधी और कसैले गुणों के कारण, आंवले शरीर के संक्रमण के खिलाफ रक्षा करते हैं और शरीर की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया में सुधार करते हैं। आंवले में मौजूद विटामिन सी शरीर में सफेद रक्त कोशिका की संख्या में वृद्धि करते हैं।  
  • शरीर से विषेले पदार्थ निकाले
    आमला एक ऐसा फल है जिसमें पानी की मात्रा भी होती है| इसका मतलब इसे खाने से यूरिन में होने वाली परेशानियाँ दूर होती है| और यूरिन के द्वारा शरीर के सारे विषेले तत्व निकाल जाते है| यूरिन के दवाला शरीर से अनावश्यक नमक, एसिड, पानी निकल जाता है| इससे वजन भी कम होता है क्यूंकि शरीर में 4% फैट यूरिन का होता है| आमला खाने से ये सब परेशानी नहीं होती और यूरिन इन्फेक्शन व किडनी की प्रॉब्लम नहीं होती है|
  • आमला के फायदे निरामय हृदय के लिए 
    आँवला हृदय को आरोग्य रखने का भी एक सबल तरीका है। यह मधुमेह को दूर कर आपकी जिंदगी को मधुर बना देता है। यह रक्तचाप को नियंत्रित में रखता है और हृदय रोग एवं दिल के दौरे से बचाव करता है।
    आँवला को हृदय के लिए फायदेमंद माना जाता है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट, लौह, एंथोसाइनिन, फ्लैवोनोइड्स, पोटेशियम आदि तत्व पाए जाते है। उच्च कोलेस्ट्रॉल दिल की बीमारी का प्रमुख कारण होता है। आँवला खराब कोलेस्ट्रॉल के निर्माण को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल या एचडीएल को बढ़ाकर धमनी में अवरोध को कम करता है और इस प्रकार यह ह्रदय से जुडी परेशानियों को कम करता है। अध्ययनों के अनुसार आँवला रक्त वाहिकाओं की दीवारों की मोटाई को बढ़ने से रोक सकता है। इस प्रकार हृदय रोग के पहले संकेत को रोक कर ही यह ह्रदय रोग के खतरे को कम करता है   
    आँवले में मौजूद विटामिन और मिनरल प्रोटीन संश्लेषण में मदद करते हैं और शरीर में चयपचय (metabolism) को बढ़ा कर अधिक वसा को कम करने में सहयता करते हैं। आँवले के नियमित सेवन से उच्च रक्तचाप को भी कम किया जा सकता है। इसमें मौजूद विटामिन सी शरीर के लिए कई तरीको से लाभकारी होता है। 
  • पाचनतंत्र सही रखे
    बाकि फलों की तरह आमला भी फाइबर युक्त है| आमला खाने से गैस,कब्ज, डायरिया, दस्त की परेशानी दूर होती है| खाने के बाद इसलिए सुखा आमला खाया जाता है जिससे पाचन अच्छे से हो|
  • पेट के कीडे नष्ट करे
    1-2 गिलास ताजे आंवले का रस पांच दिन तक पीने से पेट के कीड़े नष्ट होते हैं |
  • मोटापे को घटाए
    आंवला का रस , मधु व गर्म पानी सुबह खाली पेट ले से मोटापा कप होता है जो लोग मधु नहीं ले सकते पांच आंंवाला का रस एक गिलास गुनगुने पानी के साथ खाली पेट ले सकते है
  • सर्दी जुकाम से फायदा
    आंवला खाने से सर्दी, खांसी, जुकाम जैसी बीमारियों को दूर किया जा सकता है।
  • आंवला चमकती त्वचा के लिए
    आँवला प्रकृति में ठंडा होने की वजह से त्वचा की परेशानियों को दूर में बहुत लाभदायक होता है। त्वचा के लिए आमला के कुछ लाभों में शामिल हैं:
    आँवला पॉवडर को चेहरे पर लगाने से मुँहासे ठीक होते है। ऑयली और मुहाँसे वाली त्वचा को सही करने के लिए आँवला पॉवडर, गुलाब जल और नींबू के रस को मिला कर एक फेस पैक तैयार करें और चेहरे को साफ़ करने के लिए इसका उपयोग करें। 
    आँवले में एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते है जो त्वचा को कई प्रकार के रोगो से बचाते हैं। 
    आँवला में विटामिन सी की अधिक मात्रा होती है जिस कारण यह शरीर में से विषाक्त पदार्थो को निकालकर पाचन शक्ति को बढ़ाता हैं। जिसकी वजह से त्वचा को भोजन से पूरी तरह पोषण मिलता है और यह स्वस्थ रहती है। 
    आँवला के जूस का सेवन करने से आपकी त्वचा में निखार आता है क्योंकि इस में एंटीऑक्सीडेंट होते है जो रक्त को  शुद्ध करते है और त्वचा को कई रोगो से बचाते हैं। 
    इसके साथ ही आँवले  का नियमित रूप से सेवन करने पर आपके चेहरे पर झुरिया नहीं आती है और इसके एंटी एजिंग गुणों से आपकी त्वचा की चमक बरक़रार रहती है। 
    आँवला पॉवडर और जैतून के तेल को मिलाकर पेस्ट बनाए और चहरे पर लगाकर 10 मिनट तक रहने दे और फिर 10 मिनट बाद इसे धो लें। इस फेस पैक से आपके चेहरे से धूल और गन्दगी को हटाने में मदद मिलेगी और यह एक प्राकृतिक क्लीन्ज़र के रूप में कार्य करेगा। 

    चमकती एवं स्वस्थ त्वचा बाह्य सौंदर्य की सबसे महत्वपूर्ण निर्धारक है। यह त्वचा को साफ करता है दाग, मुंहासे, क्षतिग्रस्त कोशिकाओं और झुर्रियों को भी दूर करने में सहायता करता है। दैनिक दो चम्मच आंवला रस पिएं या फिर त्वचा पर आंवला का रस लगायें। आंवला विटामिन सी, एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी-एजिंग (anti-ageing) और विरोधी बैक्टीरियल (anti-bacterial) गुण से भरपूर है और इसलिए यह रंग में सुधार लाने और युवा त्वचा प्रदान करने में उपयोगी है। 

  • आंवला के औषधीय गुण बांझपन के लिए 
    आँवला पुरुष एवं महिलाओं की फर्टिलिटी बढ़ाने और अहिलाओं को गर्भ धारण (conception) करने में सहायता करता है। यह महिलाओं में ओव्युलेशन (ovulation) प्रक्रिया को बढ़ाता है, पुरुषों में शुक्राणु (sperms) की गुणवत्ता में सुधार लाता है और स्वस्थ गर्भाधान में मदद करता है। यह गर्भावस्था के सुंदर चरण के दौरान भी बहुत उपयोगी है। 2-3 कसे हुए आंवलों में शहद की मिठास मिलायें और इन्हें खा लें।

 

आंवला के नुकसान - Amla Side Effects in Hindi 

अभी तक के अध्ययनों में किसी प्रकार के जहरीले या कठोर, नकारात्मक प्रभावों की रिपोर्ट नहीं मिली है, लेकिन आंवले के उपयोग से संबंधित कुछ हल्के, प्रतिकूल प्रतिक्रियाएं हैं। जिससे आपको सतर्क रहने की जरुरत है

  • इसकी शीतलता की वजह से यह सर्दी और खांसी पर बुरा असर हो सकता है। इसके इस दुष्प्रभाव को समाप्त करने के लिए इसका सेवन काली मिर्च या शहद के साथ करें।
  • अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते है तो इससे आपको कब्ज की समस्या बढ़ सकती है इससेबचने के लिए आप इसका सेवन पानी के साथ करें।
  • आँवला मधुमेह (Diabetes) की दवा के साथ हस्तक्षेप कर सकता है। इसका आचार रक्तचाप के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए हृदयी रोगी को इसका सेवन चिकित्सक की सलाह से ही करना चाहिए।
  • आँवला त्वचा की नमी को भी कम कर सकता हैं। इसीलिए आँवला खाने के बाद ज़्यादा मात्रा में पानी पीना जरुरी होता है।
  • इसमें उच्च फाइबर (fiber) सामग्री पाई जाती है जिसकी वजह से डायरिया हो सकता है। इसीलिए इसके सेवन के साथ साथ पानी का भी सेवन करना ज़रूरी है।
  • यदि इसका सेवन अधिक मात्रा में किया जाए तो यह पेशाब में जलन का भी कारण बन सकता है।
  • जिन लोगों को आंवले से एलर्जी हो, उन्हे कुछ स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों जैसे दस्त, पेट में दर्द, पेट में ऐंठन, मतली, उल्टी, लाली और अपने मुँह के आसपास सूजन, चेहरे पर लालच, त्वचा और चेहरे पर पित्ती, श्वास बाधित, सिरदर्द, चक्कर आना, और हल्केपन का अनुभव हो सकता है।
  • यदि इसका सेवन लंबे समय तक किया जाए या फिर ज़्यादा मात्रा में किया जाए तो यह पथरी को भी जन्म दे सकता है।

We have 69 guests and no members online